अगले दो सप्ताह में दक्षिणी राज्यों में टमाटर की कीमतें होंगी स्थिर : केंद्रीय खाद्य सचिव


अगले दो सप्ताह में दक्षिणी राज्यों में टमाटर की कीमतें होंगी स्थिर : केंद्रीय खाद्य सचिव

प्रतिकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

केंद्रीय खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय (Union Food Secretary Sudhanshu Pandey) ने गुरुवार को कहा कि दक्षिणी राज्यों में अगले दो सप्ताह में टमाटर की खुदरा कीमतें (Retail Prices of Tomatoes) स्थिर होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि वहां बारिश की वजह से फसल को भारी नुकसान पहुंचने से कीमतों में वृद्धि हुई है.

यह भी पढ़ें

सुधांशु पांडेय ने कहा, ‘‘दिल्ली में टमाटर की कीमतें स्थिर हैं. दक्षिणी भारत में स्थानीय बारिश के कारण फसल को हुए नुकसान की वजह से टमाटर की कीमतें बढ़ी हैं.” उन्होंने कहा कि टमाटर का वास्तविक उत्पादन और आवक अधिक है. उत्पादन पक्ष में कोई समस्या नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार ने राज्यों के साथ इस मामले पर चर्चा की है.

Kitchen Hacks: महंगी सब्जियों को भी बजट में खरीद सकती हैं आप, बस अपनाने होंगे ये स्मार्ट तरीके

केंद्रीय खाद्य सचिव ने कहा, ‘‘कीमतें अगले दो हफ्तों में स्थिर हो जानी चाहिए.” सचिव ने यह भी उल्लेख किया कि प्याज का उत्पादन और खरीद भी पिछले साल से अधिक है. उन्होंने कहा, ‘‘हमने रबी सत्र से अब तक 52,000 टन की खरीद की है, जो पिछले साल के 30,000 टन से कहीं अधिक है.”

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा रखे जाने वाले आंकड़ों के अनुसार, कई स्थानों पर टमाटर की खुदरा कीमतें 50 से 106 रुपये प्रति किलोग्राम के बीच चल रही हैं. यही स्थिति महाराष्ट्र में भी है.

सब्जी बेचने वाले ने लगाए ऐसे सुर लग गई ग्राहकों की लाइन, डिस्काउंट की जगह करने लगे एक और गीत की फरमाइश

आंकड़ों में बताया गया है कि दिल्ली में टमाटर 40 रुपये प्रति किलो बेचा जा रहा है. दिल्ली को छोड़कर, अन्य महानगरों में खुदरा कीमतें दो जून को उच्चस्तर पर थीं. मुंबई और कोलकाता में गुरुवार को टमाटर 77 रुपये प्रति किलो और चेन्नई में 60 रुपये प्रति किलो के भाव बेचा गया.

प्राइम टाइम : जनता को महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों से राहत कब?

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.