केरल में कांग्रेस अपनी लोकसभा सीटों को बरकरार नहीं रख पायेगी: CM पिनराई विजयन


केरल में कांग्रेस अपनी लोकसभा सीटों को बरकरार नहीं रख पायेगी: CM पिनराई विजयन

विजयन ने बीजेपी पर सांप्रदायिकता फैलाने और समाज को बांटने का प्रयास करने का आरोप लगाया. 

त्रिशूर:

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) ने कहा है कि कांग्रेस राज्य में 2019 के संसदीय चुनावों के दौरान जीती गई लोकसभा सीटों को बरकरार नहीं रख पाएगी, क्योंकि राहुल गांधी सहित इसके सांसद राष्ट्रीय राजनीति में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का विरोध करने में ‘विफल’ रहे हैं. मुख्यमंत्री ने राहुल गांधी के नेतृत्व में जारी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के स्वागत के लिए लगाए गए बैनर में 20 भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों में वी. डी. सावरकर की तस्वीर शामिल किए जाने पर भी कांग्रेस पार्टी पर तंज कसा.

यह भी पढ़ें

वामपंथी नेता अझीकोडन राघवन के 50वें शहादत दिवस के मौके पर यहां लोगों को संबोधित करते हुए विजयन ने कहा कि उनके राज्य के लोगों ने महसूस किया है कि केरल से गांधी को लोकसभा के लिए चुनना एक गलती थी. विजयन ने कहा, ‘‘जब राहुल गांधी ने यहां चुनाव लड़ा तो हमारे लोगों को लगा कि वे प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं. लेकिन लोग अब जानते हैं कि यह एक गलती थी. कांग्रेस की वह चाल यहां दोबारा नहीं चलेगी. केरल के यूडीएफ सांसद राष्ट्रीय स्तर पर बीजेपी का विरोध भी नहीं कर रहे हैं. वे लोकसभा में केरल से संबंधित किसी भी मुद्दे को उठाने में विफल रहे हैं.”

उन्होंने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सांप्रदायिक एजेंडे को कांग्रेस द्वारा प्रोत्साहित किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘बीजेपी और आरएसएस अब सावरकर को भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद के साथ एक स्वतंत्रता सेनानी के रूप में शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं. आप सभी ने कांग्रेस द्वारा लगाये गए पोस्टर में आजाद के साथ सावरकर का पोस्टर देखा होगा. इससे पता चलता है कि कांग्रेस ने आरएसएस के अभियान को स्वीकार कर लिया है और इसलिए एर्णाकुलम में कांग्रेस ने सावरकर को स्वतंत्रता सेनानियों की सूची में जोड़ने का फैसला किया है.”

उन्होंने आरएसएस और बीजेपी पर भी हमला करते हुए कहा कि वे कभी भी स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा नहीं थे, लेकिन अंग्रेजों को माफी पत्र लिखते थे और स्वतंत्रता संग्राम के साथ विश्वासघात करते थे. उन्होंने कहा, ‘‘आरएसएस ने हिंदुओं को सलाह दी कि अंग्रेजों से लड़ना जरूरी नहीं है. आरएसएस कभी भी स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा नहीं थी.” विजयन ने बीजेपी पर सांप्रदायिकता फैलाने और समाज को बांटने का प्रयास करने का आरोप लगाया. विजयन ने अपने घंटे भर के भाषण में आरोप लगाया कि आरएसएस देश के अल्पसंख्यकों को ‘दुश्मन’ के रूप में देखता है और देशभर में उन पर हमले कर रहा है.

कोच्चि में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान सावरकर की फोटो को लेकर कांग्रेस ने तुरंत अपने नेदुम्बसेरी कांग्रेस मंडलम सचिव को प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था क्योंकि वह बैनर की व्यवस्था के लिए जिम्मेदार थे. कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास लगे बैनर में सावरकर की तस्वीर के ऊपर बाद में पार्टी कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी की तस्वीर लगाई गई थी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *