घाटी में एक दिन में दो हत्याओं के बाद आज बैठक करेगी केंद्र सरकार, कश्मीरी पंडितों की अपील के बीच दिल्ली आ रहे LG


ईंट भट्टे में काम करते थे दोनों 

इस घटना के कुछ घंटों बाद मध्य कश्मीर घाटी में दो प्रवासी मजदूरों को आतंकवादियों ने गोली मार दी. दोनों ईंट भट्टे से काम करके लौट रहे थे. इस संबंध में पुलिस ने ट्वीट किया, “दोनों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उनमें से एक ने दम तोड़ दिया.” घटना रात करीब 9:10 बजे चादूरा इलाके के माग्रेपोरा में हुई है. 

बैक-टू-बैक हत्या कर रहे आतंकी

बता दें कि मंगलवार को इसी इलाके में एक हिंदू महिला स्कूली शिक्षिका की भी आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इससे पहले, आतंकवादियों ने पिछले हफ्ते तीन अलग-अलग तरीके से तीन ऑफ-ड्यूटी पुलिसकर्मियों और एक टेलीविजन अभिनेत्री (सभी मुसलमान) की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

वहीं, इससे कुछ दिन पहले, एक हिंदू सरकारी कर्मचारी की उसके कार्यालय के अंदर आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी, जिसे पुलिस ने पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य बताया था. गौरतलब है कि केंद्रीय गृह मंत्री की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और खुफिया अधिकारियों से मुलाकात के एक दिन बाद दिल्ली में अमित शाह और उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की मुलाकात होगी. 

घाटी छोड़ना कर दिया है शुरू

मालूम हो कि कश्मीर में लगातार हो रही हत्याओं ने कश्मीरी पंडितों के सुरक्षा को लेकर जारी प्रदर्शन को तेज कर दिया है. सैकड़ों कश्मीरी पंडितों ने गुरुवार को श्रीनगर और केंद्र शासित प्रदेश के अन्य हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया. कई लोगों ने उन शिविरों में तालाबंदी के बीच घाटी छोड़ना शुरू कर दिया है, जहां वे रहते हैं. 

समुदाय के सदस्य की ओर से जारी वीडियो में कहा गया, “सरकार ने हमें बंधक बना लिया है. हमें अपने घर छोड़ने की इजाजत नहीं दी जा रही है. हम सभी डरे हुए हैं. कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था विफल है. हम उपराज्यपाल (लेफ्टिनेंट गवर्नर) से अनुरोध करते हैं कि हमें जम्मू के लिए रवाना होने दें.” 

यह भी पढ़ें –

…”तो तीन हिस्सों में टूट जाएगा Pakistan”…, Imran Khan ने दी धमकी

भारत में साल 2021 में पूरे साल अल्पसंख्यकों पर हमले हुए : धार्मिक स्वतंत्रता पर US रिपोर्ट

Video: पाटीदार नेता हार्दिक पटेल बीजेपी में शामिल, कांग्रेस ने की आलोचना



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.