टेकओवर के बाद अब तक का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट डील की तैयारी में Air India


टेकओवर के बाद अब तक का सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट डील की तैयारी में Air India

एयरलाइन के पास अभी भी अधिकांश प्रमुख हवाई अड्डों पर आकर्षक लैंडिंग स्लॉट हैं. (File)

टाटा ग्रुप द्वारा इसी साल टेकओवर किया गया एयर इंडिया लिमिटेड, 300 नैरोबॉडी जेट का ऑर्डर देने पर विचार कर रहा है. ये कॉमर्सियल एविएशन के इतिहास में सबसे बड़े ऑर्डर में से एक हो सकता है क्योंकि पूर्व में राज्य द्वारा संचालित एयरलाइन नए स्वामित्व के तहत अपने बेड़े को ओवरहाल करना चाहती है. सूत्रों की मानें तो एविएशन कंपनी Airbus SE से A320neo परिवार के जेट या बोइंग कंपनी के 737 Max-10 जेट या दोनों के मिश्रण का ऑर्डर दे सकता है. तय कीमतों पर 300 737 Max-10 जेट के लिए 40.5 अरब डॉलर का सौदा हो सकता है. हालांकि, इतनी बड़ी खरीद में छूट मिलना आम बात है. 

यह भी पढ़ें

अगर एयरइंडिया की ओर से ये ऑर्डर दिया जाता है तो ये बोइंग कंपनी के लिए एक तख्तापलट होगा, क्योंकि प्रतिद्वंद्वी कंपनियां देश में आसमान पर हावी हैं. इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड द्वारा संचालित इंडिगो यूरोपीय निर्माता के सबसे अधिक बिकने वाले नैरोबॉडिज के लिए दुनिया का सबसे बड़ा ग्राहक है, जो 700 से अधिक ऑर्डर करता है. वहीं, विस्तारा, गो एयरलाइंस इंडिया लिमिटेड और एयरएशिया इंडिया लिमिटेड सहित अन्य भी इसी के ग्राहक हैं.

300 विमानों के उत्पादन और वितरण में 10 सालों से भी अधिक समय लगने की संभावना है. एयरबस एक महीने में लगभग 50 नैरोबॉडी जेट बनाता है, जिसे 2023 के मध्य तक बढ़ाकर 65 और 2025 तक 75 करने की योजना है. इधर, इस पूरे मामले में एयर इंडिया और बोइंग के प्रतिनिधियों ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. एयरबस के एक प्रतिनिधि ने कहा कि कंपनी हमेशा मौजूदा और संभावित ग्राहकों के संपर्क में रहती है, लेकिन कोई भी चर्चा गोपनीय होती है. 

ब्लूमबर्ग न्यूज ने इस महीने की रिपोर्ट में बताया कि एयर इंडिया के मालिक टाटा समूह भी एयरबस ए 350 लंबी दूरी के जेट विमानों के ऑर्डर के करीब हैं, जो नई दिल्ली से यूएस वेस्ट कोस्ट तक उड़ान भरने में सक्षम हैं. कभी बॉलीवुड स्टार से प्रचार कराने वाली और अपनी प्रीमियम सेवाओं के लिए जानी जाने वाली, एयरलाइन के पास अभी भी अधिकांश प्रमुख हवाई अड्डों पर आकर्षक लैंडिंग स्लॉट हैं, लेकिन इसे भारत में नॉनस्टॉप सेवाओं के साथ विदेशी एयरलाइनों से प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है. गौरतलब है कि टाटा ने इस साल की शुरुआत में ही निजीकरण के तहत एयरलाइन को खरीदा था. 

यह भी पढ़ें –

महाराष्ट्र : राज्यसभा के बाद अब MLC चुनाव में BJP ने बढ़ाई उद्धव ठाकरे की टेंशन, फिर से कांटे की टक्कर

प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, इन रास्तों पर वाहनों की नो इंट्री



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.