प्रदूषण, हीटवेव, चक्रवात, क्लाइमेट रिफ्यूजी जैसी समस्याएं, भारत में कब बनेंगे चुनावी मुद्दे?



पर्यावरण जैसे गंभीर मुद्दों पर राजनीतिक दलों की चुप्पी हैरत करने वाली नहीं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.