भाजपा और सपा के सभी 11 प्रत्याशियों के नामांकन पत्र सही पाये गये, निर्दलीय उम्मीदवार का पर्चा खारिज


उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय से बुधवार को यहां जारी एक बयान में बताया कि सभी 12 नामांकन पत्रों की जांच की गयी और जिसमें से 11 नामांकन पत्र सही पाये गये जबकि निर्दलीय उम्मीदवार मौनी फल्हारी बापू का नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया. इसके साथ ही अब चुनाव मैदान में उतने ही उम्मीदवार बचे हैं जितनी राज्य से राज्यसभा के लिए सीटें खाली हैं. बयान में निर्दलीय उम्मीदवार का नामांकन पत्र किन कारणों से खारिज किया गया इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गयी है.

भाजपा उम्मीदवारों में लक्ष्मीकांत बाजपेई, राधा मोहन दास अग्रवाल, सुरेंद्र सिंह नागर, बाबूराम निषाद, दर्शना सिंह, संगीता यादव, मिथिलेश कुमार और के लक्ष्मण शामिल हैं. समाजवादी पार्टी ने जावेद अली खान को मैदान में उतारा है और निर्दलीय कपिल सिब्बल और रालोद प्रमुख जयंत चौधरी का समर्थन किया है.

उत्तर प्रदेश में हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 255 सीटें जीती थीं, जबकि उसके सहयोगी अपना दल सोनेलाल को 12 और निषाद पार्टी को छह सीटों पर विजय हासिल हुई थी. मुख्य विपक्षी दल सपा ने 111 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जबकि उसके सहयोगी राष्ट्रीय लोकदल को आठ और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी को छह सीटें मिली थीं.

उत्तर प्रदेश विधानसभा में कुल 273 विधायकों के साथ भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) अपने आठ उम्मीदवारों को आसानी से राज्यसभा चुनाव जिता सकता है. वहीं, कुल 125 विधायकों वाले सपा नीत गठबंधन के पास अपने तीन उम्मीदवारों को जिताने लायक संख्या बल है.

उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के लिए कुल 31 सदस्य चुने जाते हैं, जिनमें से 11 सदस्यों के चयन के लिए आगामी 10 जून को मतदान होगा. जिन 11 सीटों के लिए चुनाव हो रहा है, उनमें से भाजपा के पांच, सपा के तीन, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के दो और कांग्रेस के एक सदस्य का कार्यकाल जुलाई में समाप्त होने वाला है.

निर्वाचन आयोग के मुताबिक, राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की मंगलवार को आखिरी तारीख थी. एक जून को नामांकन पत्रों की जांच हुई और अब तीन जून तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. मतदान 10 जून को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक होगा. उसी दिन मतगणना भी होगी.

यह भी पढ़ें:
राज्यसभा चुनाव : भूपेश बघेल का बीजेपी को जवाब- छत्तीसगढ़ के लिए अलग, यूपी के लिए अलग नजरिया!
महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता ने पार्टी के राज्यसभा टिकट के फैसले के विरोध में छोड़ दिया पद
Rajya Sabha Election 2022: यूपी से बीजेपी के 8 प्रत्याशियों ने दाखिल किया नामांकन, CM योगी भी रहे मौजूद

राज्यसभा चुनाव में जीत के लिए किसकी राह आसान और किसकी कठिन? जानिए पूरा सियासी समीकरण

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.