महिला ने खुद को बताया देवी पार्वती, भगवान शिव से विवाह की जताई इच्‍छा जताई, भारत-चीन बॉर्डर के पास इलाके में रुकने पर अड़ी


महिला ने खुद को बताया देवी पार्वती, भगवान शिव से विवाह की जताई इच्‍छा जताई, भारत-चीन बॉर्डर के पास इलाके में रुकने पर अड़ी

भारत-चीन सीमा के निकट रह रही महिला ने दावा किया है कि वह देवी पार्वती का अवतार है.

पिथौरागढ:

भारत-चीन सीमा ( ​​India-China Border) के निकट नाभीडांग के प्रति​बंधित क्षेत्र के करीब अवैध रूप से रह रही लखनऊ की एक महिला ने यह दावा करते हुए वहां से हटने से इंकार कर दिया है कि वह देवी पार्वती (Goddess Parvati) का अवतार है और वह कैलाश पर्वत पर रहने वाले भगवान शिव (Lord Shiva) से विवाह करेगी. पिथौरागढ के पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह ने बताया कि प्रतिबंधित क्षेत्र से जबरदस्ती हटाए जाने पर हरमिंदर सिंह नाम की इस महिला ने आत्महत्या करने की धमकी दी है और इसके चलते उसे वहां से हटाने गई पुलिस टीम खाली हाथ लौट आई है. 

यह भी पढ़ें

हालांकि, उन्होंने कहा कि महिला को बलपूर्वक नीचे धारचूला लाने के लिए अब एक और बड़ी पुलिस टीम मौके पर भेजी जाएगी. सिंह ने कहा, ‘‘हमने निर्णय लिया है कि महिला को नीचे लाने के लिए अब 12 सदस्यीय एक पुलिस टीम नाभीढांग भेजी जाएगी. इस टीम में चिकित्सा कर्मी भी शामिल होंगे.”

China ने अब भी India का “सबसे बड़ा व्यापार भागीदार” होने का किया दावा, कहा- US को बढ़त केवल ‘आंकड़ों का फेर’

पुलिस अधिकारी ने बताया कि लखनऊ के अलीगंज क्षेत्र की रहने वाली महिला धारचूला के उपजिलाधिकारी से 15 दिन की अनुमति लेकर अपनी मां के साथ गुंजी गई थी, लेकिन 25 मई को अनुमति की अवधि समाप्त होने के बाद भी वह प्रतिबंधित क्षेत्र को छोड़ने से मना कर रही है. उल्लेखनीय है कि गुंजी, कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग पर स्थित है. 

China ने Canada को भड़काया, North Korea के मिशन पर तैनात विमान को रास्ता बदलने पर किया मजबूर

उन्होंने कहा कि खुद को देवी पार्वती का अवतार बताने का दावा करने और कैलाश पर्वत पर रहने वाले भगवान शिव से विवाह की इच्छा जताने के चलते महिला मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं लग रही है. 

“सेना ने करिश्माई रूप से काम किया”: चीन सीमा को लेकर बोले राजनाथ सिंह



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.