NFT स्पेस में कदम रख सकती है Apple, नए मार्केटिंग कंटेंट से मिला इशारा


NFT स्पेस में कदम रख सकती है Apple, नए मार्केटिंग कंटेंट से मिला इशारा

Apple WWDC 2022 इवेंट 6 जून को शुरू होगा

खास बातें

  • Apple ईवेंट पेज पर मीमोजी पर क्लिक करने से ऑगमेंटेड रियलिटी मोड चलता है
  • कार्ड RTFKT Studios के CloneX के अवतारों से मेल खाते हैं
  • इसने Apple NFT की भविष्य की संभावनाओं के बारे में अटकलों को हवा दे दी है

Apple ने अपने वार्षिक वर्ल्डवाइड डेवलपर्स कॉन्फ्रेंस (WWDC) की अगुवाई में कलेक्टेबल ट्रेडिंग कार्ड्स को ईस्टर एग के रूप में पेश किया है, जो कंपनी द्वारा भविष्य में नॉन-फंजिबल टोकन (NFT) लॉन्च करने की अफवाहों को हवा दे रहा है. आमतौर पर ऐप्पल अपनी मार्केटिंग स्ट्रैटेजी में मीमोजी को शामिल करता है, लेकिन इस साल कंपनी ने ऑगमेंटेड रियलिटी (AR) एलिमेंट पेश करने का फैसला किया है, जो मीमोजी पर टैप करने पर शूरू होता है.

यह भी पढ़ें

MacRumors की रिपोर्ट के अनुसार, Apple के ईवेंट पेज पर मीमोजी कैरेक्टर पर क्लिक करने से एक ऑगमेंटेड रियलिटी मोड चलता है और WWDC के अपकमिंग 2022 एडिशन में Web 2 एलिमेंट्स के रूप में कलेक्शन के लिए तीन ट्रेडिंग कार्ड कैरेक्टर उपलब्ध होते हैं.

यूं तो कलेक्टेबल ट्रेडिंग कार्ड्स को मार्केटिंग के रूप में पेश करना Apple द्वारा NFT स्पेस में एंट्री की प्लानिंग सोचने के लिए पर्याप्त नहीं है, लेकिन कार्ड RTFKT Studios के CloneX के अवतारों और Gary Vaynerchuk की VeeFriends Series 2 के एनिमेटेड कार्डों के समान हैं. इसने NFT समुदाय के भीतर Apple NFT की भविष्य की संभावनाओं के बारे में अटकलों को हवा दे दी है.

साथ ही, Apple के सीईओ टिम कुक पहले ऑगमेंटेड रियलिटी को अपनाने के बारे में अपनी सकारात्मक सोच दिखा चुके हैं. इसी तरह, उन्होंने कंपनी के मेटावर्स में निवेश करने के इरादे का भी खुलासा किया था, जिससे ऐप्पल के शेयरों में तुरंत उछाल आया था. कुल मिलाकर, NFT कम्युनिटी में कई लोगों का मानना ​​है कि Apple के पास NFT ट्रेडिंग कार्ड हो सकते हैं.

Apple द्वारा इस WWDC में अपने मिक्स्ड रियलिटी हेडसेट या नए AR / VR ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा करने की भी उम्मीद थी, लेकिन इस हफ्ते की शुरुआत में Apple विश्लेषक मिंग-ची कू (Ming-Chi Kuo) के एक अपडेट से पता चला था कि डिवाइस के बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन के साथ अभी भी कुछ समस्याएं हैं, जिसके चलते हेडसेट का लॉन्च होने संभव नहीं है.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.